If you commit any mistake

What to do If you commit any mistake? अगर आप से कोई ग़लती हो जाए तो बहुत तरीके हैं सुधारने के। गम्भीरत तो सोचें तो यह बहुत गंभीर विषय है। मगर उसने कहा था जीवन में कभी गंभीर ना हो चाहें कोई भी परिस्थिति हो।

ग़लती को सुधारने के लिए क्या करना चाहिए – Tips to correct If you commit any mistake

चलो यह जानते हिं कि ग़लती को सुधारने के लिए क्या करना चाहिए।

ज़रुरत है आत्म चिंतन करने की। जाने यह क्या क्या हुआ, कैसे हुआ , कब हुआ। छोडो यह ना सोचो। इतना सीरियस मत हो, बस समस्या का विश्लेषण करें। अगर आप इतने ज्ञानी होते तो ग़लती ही क्यूँ करते।

निजी बैठक

चलो एक और राह बताते हैं आपने जिसका नुक्सान कर दिया है उसे फ़ौरन मिलें। एक निजी बैठक समस्या का हल है। मगर आपने जिसका नुक्सान करा है वह आपको क्यूँ भाव देगा, क्यूँ करेगा निजी बैठक? मिलना मिलाने का आईडिया कैंसिल बीएस मन में प्रण लीजिए कि आप अब से ईमानदार रहेंगे। मगर ग़लती करी है तो माफ़ी तो मांगनी ही चाहिए। मगर माफ़ी माँगना इतना आसान नहीं, यही सोच रहे हैं ना आप?

एलाने-माफ़ी

जनाब आज कल तो टेक्नोलॉजी ने सब आसन बना दिया है। आमने सामने पड़ने की ज़रुरत है ही नहीं। फ़ोन उठा, नंबर मिला और माफ़ी मांग ले। उसकी भी हिम्मत नहीं है? भाई तो sms message करदो चुप चाप, बुज़दिली  से। बुज़दिली का रास्ता आपको पसंद नहीं ? आप दबंग तबियत के हैं? उसका भी इलाज है हमारे पास। सोशल मीडिया पर एलाने-माफ़ी कर दीजिए साहब एक दम रॉयल तरीके से। Facebook, Instagram, Twitter, Youtube, Pinterest सभी जगह एलान-माफ़ी कर दीजिए। LinekedIn तक को ना छोडिए।  अगले को एहसास तो होना कि आप के जैसे दिग्गज से पाला पड़ा है। दुनिया और समाज भी इस चक्कर में पड़ जाएगी, भला ग़लती थी किसकी।

उसने कहा था मगर क्या?

इन सब से भी पेट नहीं भरा हो तो जान लो उसने क्या कहा था। उसने कहा था “ कभी कोई ग़लती हो जाए (If you commit any mistake) तो घबराना नहीं चाहिए। बस शांत मन से यह सोचना कि …नाम किसका लगाना है”।

हैं ना गुरुमंत्र? तो यह मत पूछना किसने कहा था। बस यह याद रखना उसने कहा था।

Follow us on Facebook for more such rare facts.

पढ़िए – किसे सलाम कीजिएगा, कलाम साहब को या सैम मानेकशॉ को |

If you like post please consider sharing this in social media