Abdul Kalam Pension

Abdul Kalam Pension: अब्दुल कलाम और फील्ड सैम मानेकशॉ का अनूठा किस्सा

कलाम साहब का कुन्नोर का दौरा

बात उन दिनों की हैं जब डॉ अब्दुल कलाम राष्ट्रपति थे। तब उन्होंने कुन्नूर का दौरा किया था। कलाम को वहां पहुंचने पर पता चला कि फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ वहां के मिलिट्री हॉस्पिटल में हैं। अब डॉ. कलाम सैम से मिलने जाना चाहते थे, जो कि अनिर्धारित था मगर मिलने की ललक और इच्छा बहुत तीव्र थी। कलाम साहब की इच्छा हो और वह पूरा ना करें?

तो जनाब जहां राह वहां चाह। किसी तरह से व्यवस्था की गयी और कलाम हॉस्पिटल पहुँच गए फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ के बिस्तर के किनारे बैठ गए। दोनों में लगभग 15 मिनट बातचीत हुई जिसमें कलाम ने सैम से उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछताछ करी।

जाने से पहले सैम मानकशॉ ने बताई चौकाने वाली बात

जाने से ठीक पहले कलाम ने सैम से पूछा “आप को कोई तकलीफ तो नहीं हैं? क्या मैं कुछ कर सकता हूँ? क्या आपको कोई शिकायत है? या मुझसे कोई मदद चाहिए हो?”

सैम ने कहा “हाँ महामहिम, मुझे एक शिकायत है”।

कलाम साहब ने चिंता जताते हुए सैम से पुछा कि उन्हें क्या तकलीफ है । सैम ने उत्तर दिया “सर, मेरी शिकायत यह है कि मैं उठ नहीं पा रहा हूं और अपने प्यारे देश के सबसे सम्मानित राष्ट्रपति को सलाम नहीं कर पा रहा हूं”। कलाम ने सैम का हाथ पकड़ लिया और दोनों महापुरुषों की आंखों में आंसू थे।

बात यहीं ख़त्म नहीं हुई। सैम ने एपीजे को बताया कि उन्हें लगभग बीस वर्षों तक फील्ड मार्शल के पद की पेंशन का भुगतान नहीं किया गया था।

How did President Abdul Kalam help to field Marshal Manekshaw to get pension – राष्ट्रपति का फैसला

इस बात ने राष्ट्रपति को हक्का-बक्का कर दिया। कलाम साहब दिल्ली पहुंचे  और एक सप्ताह के भीतर बकाया (arrears) के साथ पूरी पेंशन पास कर दी। तुरंत लगभग 1.25 करोड़ रुपये का चेक, रक्षा सचिव के माध्यम से वेलिंगटन, ऊटी, जहां सैम बीमार थे, उनके लिए एक विशेष विमान से भेजा गया।
यही राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम जी की महानता है।

किस्से (Sam Manekshaw APJ Abdul Kalam Pension) में आया एक और दिल छूने वाला ट्विस्ट

लेकिन किस्सा यहीं खत्म नहीं होता। सैम ने चेक प्राप्त किया और तुरंत इसे सेना राहत कोष में दान कर दिया। कलाम साहब और फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ में कौन ज़्यादा महान था यह सवाल नहीं है, सवाल शायद यह है क्या भारत में ऐसे महान व्यक्ति फिर दोबारा जन्म लेंगे या नहीं।

Follow us on Facebook for more such rare facts.

जानिये तैरने वाला डाकघर में|

If you like post please consider sharing this in social media